जहानाबाद

शर्मनाक: तेजाब डालकर लड़की की हत्या, बिहार पुलिस में होने वाली थी शामिल

अपराधियों ने शहरतेलपा थाना क्षेत्र के पीढ़ो गांव की एक युवती की हत्या तेजाब डालकर कर दी और उसके शव को औरंगाबाद जिले के हसपुरा थाना क्षेत्र के रघुनाथपुर गांव के पास फेंक दिया।
मृतका 18 वर्षीया रमता कुमारी पीढ़ो गांव के रघुनाथ साह की बेटी थी। रमता का शव फेंके जाने की मिली खबर से मर्माहत पीढ़ो गांव के ग्रामीण रघुनाथपुर पहुंचे और लाश की हालत को देखते ही बिफर पड़े। गुस्साए ग्रामीणों ने पीरु-बनतारा पथ को रघुनाथपुर के पास जाम कर दिया। वह हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। देखते ही देखते सड़क के दोनों ओर वाहनों की कतार लग गई। इसमें कई यात्री वाहन भी फंसे हैं। इससे यात्रियों को परेशानी हो रही है।
मृतका के परिजनों ने बताया कि रमता ने बिहार पुलिस में बहाल होने के लिए आवेदन दिया था। कॉल लेटर भी आ चुका था। फिजिकल टेस्ट में पास होने के लिए वह रोजाना अपने घर से दौड़ लगाने के लिए भोर में निकल जाती थी। रोजाना की तरह शनिवार की भोर में भी वह तीन बजे अपने घर से दौड़ का अभ्यास करने के लिए निकली थी। लेकिन, लौट नहीं सकी। रमता के घर लौटने में जब विलंब हुआ तो परिजन चिंतित हो उठे और रिश्तेदारों एवं उसकी सहेलियों से उसके बारे में पता लगाया।
लेकिन, किसी तरह की जानकारी नहीं मिलने से निराश परिजनों ने रमता के गायब होने की लिखित सूचना शहरतेलपा थाने को दी। जाम स्थल पर पुलिस टीम पहुंचकर ग्रामीणों को समझाकर सड़क से हटाने का प्रयास कर रही है। लेकिन, वह उनकी एक सुनने को तैयार नहीं हैं। ग्रामीण अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े हुए हैं। उनका कहना है कि गांव की बेटी के साथ कुछ गलत हुआ है, तभी तो उसकी हत्या तेजाब डालकर करने के बाद उसके शव को दूसरी जगह फेंक दी गई। उसकी किसी से क्या दुश्मनी हो सकती है जो तेजाब डालकर रमता की हत्या कर दी गई?

About the author

Related Posts

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.